क्या बौखनाग देवता के गुस्से की वजह से हुआ सुरंग हादसा ? जानिए क्या कह रहे हैं ग्रामीण

Loading

वैज्ञानिक और जांच एजेंसियां हादसे की वजह जानने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन स्थानीय लोगों का कहना है कि ये सब स्थानीय देवता के गुस्से की वजह से हुआ है।

उत्तरकाशी: सिलक्यारा सुरंग में फंसी 40 जिंदगियों को बचाने की जद्दोजहद जारी है। सुरंग में भूस्खलन हुए छह दिन हो गए, तब से 40 मजदूर वहां फंसे हुए हैं।

Uttarkashi Silkyara Tunnel Collapses

तमाम वैज्ञानिक और जांच एजेंसियां हादसे की वजह जानने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन स्थानीय लोगों का कहना है कि ये सब स्थानीय देवता के गुस्से की वजह से हुआ है। सिलक्यारा-पोलगांव टनल हादसे की वजह लोग बौखनाग देवता के गुस्से को मान रह हैं, जो कि इस क्षेत्र के रक्षक देवता हैं। उनका कहना है कि प्रोजेक्ट शुरू होने से पहले टनल के मुंह के पास बौखनाग देवता का छोटा सा मंदिर बनाया गया था। स्थानीय मान्यताओं को सम्मान देते हुए अधिकारी और मजदूर पूजा करने के बाद ही अंदर दाखिल होते थे। कुछ दिन पहले नए प्रबंधन ने मंदिर को वहां से हटा दिया, जिसकी वजह से यह घटना हुई है।

लोगों का कहना है कि टनल के पास मंदिर को तोड़े जाने की वजह से बौखनाग देवता नाराज हैं। स्थानीय निवासी राकेश नौटियाल ने कि हमने कंस्ट्रक्शन कंपनी से कहा था कि मंदिर को ना तोड़ा जाए या ऐसा करने से पहले आसपास दूसरा मंदिर बना दिया जाए। लेकिन उन्होंने हमारी चेतावनी को दरकिनार कर दिया, कहने लगे कि यह हमारा अंधविश्वास है। पहले भी टनल में एक हिस्सा गिरा था, लेकिन तब एक भी मजदूर नहीं फंसा था। किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ था। गांव वालों का कहना है कि जब तक स्थानीय देवता को शांत नहीं किया जाता, तब तक कोशिशें कामयाब नहीं होंगी। कंस्ट्रक्शन कंपनी ने मंदिर को तोड़कर गलती की और इसी वजह से हादसा हुआ। बता दें कि सिलक्यारा सुरंग में फंसे 40 लोगों को बचाने के अभियान में 150 से अधिक कर्मचारी और अधिकारी दिन-रात जुटे हुए हैं। वायु सेना के विमान से आधुनिक मशीनें भी मंगवाई गईं हैं, हालांकि बचाव अभियान में कामयाबी अब तक नहीं मिली है।

Facebook
Twitter
LinkedIn

ब्राह्मणवाला में शिफ्ट होगा मच्छी बाजार

आड़त बाजार के साथ ही अब मच्छी बाजार भी शहर से शिफ्ट होगा। इसके लिए ब्राह्मणवाला में प्रस्तावित आड़त बाजार के पास भूमि चयन कर लिया गया है। एमडीडीए उपाध्यक्ष

View Full News »

महेंद्र भट्ट ने राज्यसभा के लिए दाखिल किया नामांकन, 27 फरवरी को होंगे चुनाव

देहरादून: लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी हाईकमान ने प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष महेंद्र भट्ट को राज्यसभा भेजने का निर्णय लिया है। BJP state president Mahendra Bhatt filed nomination for Rajya Sabha,

View Full News »

शासन ने चमोली की जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी को पद से हटाया लगे गंभीर आरोप

2012-13 में न्यूनतम के बजाए अधिकतम बोलीदाताओं की निविदा स्वीकृत करने के मामले में की गई कार्रवाई, पद से हटाई गई जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी का कहना है कि

View Full News »

उत्तराखंड में नहीं थम रहा सरकारी जमीनों को कब्जाने का खेल – डांडा लखौंड में सरकारी भूमि पर कब्जा

क्षेत्रवासियों का कहना है कि हरियाणा के कुछ व्यक्तियों की यहां पर भूमि है उसी की आड़ में नदी किनारे स्थित सरकारी भूमि पर कब्जा किया जा रहा है अतिक्रमणकारियों

View Full News »

प्रिंस चौक से मातावाला बाग तक अगले दो महीने रहेगा भीषण जाम

इस क्षेत्र में स्मार्ट सिटी के तहत सीवरेज व ड्रेनेज लाइन बिछाने का काम किया जाना है। ऐसे में लोगों को जाम से जुझना पड़ सकता है। हालांकि पुलिस विभाग

View Full News »

Follow us on :

Top Places in Uttarakhand

Baijnath Temple
Jageshwar Dham
Nanda Devi Temple 
Hemkund Sahib
Someshwar
Mansa Devi Temple

Join Our WhatsApp Group

हमारे विशेष व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें और अपने आस-पास होने वाली नवीनतम खबरों पर समय पर अपडेट पाने वाले पहले व्यक्ति बनें!